इंसानियत की मिसाल! मुस्लिम बहन ने दी हिंदू भाई काे मुखाग्नि

September 26, 2020 0 By न्यूज डेस्क

फेसबुक लाईव पर बताई भाई की दर्द भरी कहानी

शिवसागर (असम)। कुछ लाेगाें के लिए धर्म व जाति से बढ़कर कुछ नहीं है।

राजनीति व व्यक्तिगत स्वार्थ के लिये जाति-धर्म के नाम पर लाेग मर-मिटने काे तैयार हाे जाते हैं।

लेकिन अब भी इंसानियत जिंदा है व समय-समय पर हमें अपने जिंदा हाेने का एहसास दे जाती है।

असम के शिवसागर जिले में एक लावारिश हिंदू युवक की माैत के बाद जब काेई सगा-संबंधी अंतिम संस्कार के लिये आगे नहीं आया, तब उसकी मुस्लिम बहन ने धर्म की दीवाराें काे ताेड़कर उसके पार्थिव शरीर काे मुखाग्नि दी।

हिंदू भाई की मुखाग्नि करतीं मुस्कान

मुस्कान बेगम नामक इस महिला ने जब इस घटना से जुड़ी तस्वीरें फेसबुक पर डाली ताे साेशल मिडिया में वाईरल हाे गईं व लाेगाें ने महिलायें की मानवता की तारीफ की।

लेकिन जब कुछ लाेगाें ने साेशल मिडिया पर युवक की माैत व परिवार से जुड़ी जानकारी मांगी ताे मुस्कान अपने आप काे राेक नहीं पाई।

मुस्कान बेगम

फेसबुक पर लाईव आकर इस महिला अपने भाई की कहानी बयान की। मुस्कान ने बताया कि ध्रुव मजुमदार नामक उसका छाेटा भाई विवाहित था व बचपन में ही उसने मां-बाप की माैत हाे गई थी।

वह तिनसुकीया का रहने वाला था। शराब की लत ने उसकी जिंदगी काे नर्क बना दिया था। बहन मुस्कान ने अपने भाई से शराब की लत छाेड़ने के लिये वादा भी किया, लेकिन वह अपना वायदा नहीं निभा पाया।

अपने इस फेसबुक लाईव पर कहा कि इस वाकये काे लेकर जाे लाेग नकारात्मक बातें कह रहे हैं, मैं उनकी परवाह नहीं करती।

मेरा मकसद अपने भाई की माैत के बाद उसकी पार्थिव शरीर के अंतिम संस्कार की व्यवस्था करनी थी, जाे मैंने की।